know about healthy food health insurance health care health psycology

know about healthy food, health insurance, health care, health psychology, health products, health education, and health problems 




जो  व्यक्ति अपने जीवन में  जितना स्वस्थ होता है बह अपने जीवन में उतना ही आनंद प्राप्त कर सकता है | कहते है  health is  wealth  इसका अर्थ है की  स्वास्थ ही सबसे बड़ा धन होता है | आजकल की भागदौड़  भरी जिंदगी में  अपने को healthy रखना सबसे बड़ी चुनोती है | आज की  लाइफ स्टाइल के कारण लोग अपने स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रख पाते है | जिसके कारण  उनमे बहुत सी  health problems होने लग जाती है |  health department  लोगो को अनेको प्रकार की  health relatedजानकारियाँ देता रहता है    लोगों को जागरूक करने के लिए  health app बनाये गए है जिनका उपयोग कर दैनिक जीवन में व्यक्ति  health education ले सकता है | health and fitness को समझना बहुत जरूरी है |  पहला सुख निरोगी काया   का मुख्य अर्थ ही यही है   health first in life than others 
  हम अपने आप को स्वस्थ  कैसे रखे ?  यह जानने के लिए  यह पोस्ट बहुत ही लाभकारी रहेगी |  हम केवल उन तरीको को बताना चाहते है जिनके द्वारा हम अपनी दिनचर्या में से अपनी कुछ आदतों में बदलाब कर , healthy foods का उपयोग  कर   अपने आप  को स्वस्थ रख सके |


योग  और व्यायाम 




भाग दौड़ भरी  दिनचर्या में से हमें एक निश्चित समय निकालकर नियमित रूप से  कम से कम  15 मिनिट योग अभ्यास तथा  20 मिनिट के लिए शारीरिक व्यायाम अवश्य करना चाहिए | इसके लिए सुबह का समय सबसे अच्छा है  फिर भी यदि सुबह समय नहीं मिल पाए तो दिन में कभी भी एक निश्चित समय पर योग और व्यायाम अवश्य करे |
इससे  हमें शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा  | यदि हम  रोजाना 10 मिनिट का से निकालकर मेडिटेशन करे तो हमारी बॉडी तो रिलैक्स होगी ही साथ में थकान और चिंता से मुक्ति मिलेगी | हमारा  शारीर नयी ऊर्जा से  भरा होगा और हमें अपने काम करने में एकाग्रता भी मिलेगी  |
नियमित रूप से एक व्यायाम  अवश्य करे\ व्यायाम के तरीके बदलते रहें | सुबह शाम घूमना,  दौड़ लगाना , अपने ऑफिस या घर की सीढियां चढ़ना , और तेज रफ़्तार के साथ चलना  भी अच्छे  व्यायाम है |

 पीठ को सीधा रखकर ही बैठे 

आज की जीवन शैली  में चलने , बैठने और सोने  के तरीकों में बड़ा बदलाव आ चुका है जो हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित करता है |
चलते और बैठते समय हमें अपनी पीठ को सीधा रखना चाहिए |
 झुक कर चलना और झुक कर बैठने से हमारी रीढ़ की हड्डी झुकने लगती है | जिससे दुष्प्रभाव से हमारे शरीर में ऊर्जा का प्रबाह भी कम होता है | 

हमारी रीढ़ की हड्डी हमारे मस्तिष्क से जुडी रहती है |रीढ की हड्डी और मस्तिष्क ही तंत्रिका तंत्र के प्रमुख भाग है | जाग्रत अवस्था में जब यह सीढ़ी रहती है तो हमारे आंतरिक अंगों तक ऊर्जा का प्रवाह सही तरीके से होता रहता है और शरीर के आंतरिक अंग स्वस्थ रहते है |
 इसलिए हमें बड़े ही आराम के साथ बिना तनाव के हमेशा सीधे ही बैठने का नियमित अभ्यास करना चाहिए  |

 भरपूर नींद लेना 

जिस तरह से हमारे शरीर को healthy फूड्स की आवश्यकता होती है | जो की शरीर को आवश्यक ऊर्जा देता है उसी तरह से हमारे  शरीर को पूर्ण आराम के लिए भरपूर नींद की जरूरत होती है |
नींद शरीर की वह आराम की अवस्था है जहां से हमारा शरीर शारीरिक और मानसिक ऊर्जा प्राप्त करता है | यदि हम एकक रात नहीं सो पाते है और चाहे दुसरे दिन कितना वह व्यक्ति  अच्छा healthy फ़ूड खा लें | हमारे शरीर में आलस्य , बैचेनी , मानसिक तनाव  बना रहेगा | और यदि अधिक दिनों तक नींद न ली जाए तो व्यक्ति अपना मानसिक संतुलन भी खो देता है | 
 अर्थात शरीर के  लिए रोजाना  7 से 8  घंटे की नींद पर्याप्त आवश्यक है| 


रोजाना 10 गिलास पानी अवश्य पीये 

हमारे शरीर  में पानी की एक निशित मात्रा की आवश्ता होती है | रक्त में पानी की मात्रा , हमारे आंतरिक अंगों के सही रूप में  संचालन और क्रिया विधि के लिए हमें नियमित रूप से 10 गिलास पानी पीने की जरूरत होती है | जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है |
यदि हम हल्का गुनगुना पानी पीते है तो हमारा पाचन तंत्र हमेशा सही रहेगा | गुनगुना पानी का प्रयोग हमारे शरीर में अनावश्यक वसा के जमाव को रोकता है और अनावश्यक बजन बढ़ने की समस्या नहीं रहती है |
 साथ में शरीर के जोड़ों में दर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है |
पानी हमारे शरीर से विषैले  TOXINS  बाहर निकालता है |
पानी की सही मात्रा से हमारी त्वचा मुलायम और चमकदार रहती है |


भोजन को चबाकर खाना 

भोजन करते समय ध्यान रखे की भोजन का प्रत्येक ग्रास को 32 बार चबा चबाकर  खाना चाहिए जिससे की भोजन के साथ पर्याप्त लार की मात्रा मिलती रहे | जो की हमारे भोजन को पचाने के लिए बहुत आवश्यक होती है| बिना चबाया भोजन हमारे पाचन को खराव कर देता है | 
भोजन करने के मध्य में तथा तुरंत बाद में पानी नहीं पीना चाहिए |
केवल कुल्ला कर सकते है | भोजन के लगभग 1 घंटे बाद ही पानी पीये | 

संतुलित  आहार 




आज के दौर में लोग संतुलित आहार को छोड़कर फ़ास्ट फ़ूड को अपना रहे है जो की शरीर में अनेको बीमारियों को जन्म दे रही है |
हमारे भोजन में प्रोटीन , वसा ,कार्बोहाइड्रेड, विटामिन और FIBERS  की आवश्यकता होती है | हमें सही अनुपात में संतुलित भोजन लेना चाहिए | 
कामकाजी लोगो के लिए नाश्ता जरूर करना चाहिए | यह दिन भर आपको ऊर्जा देता  है | भोजन हमेशा ताजा  हल्का गर्म हो ती ही अछा होता है | कभी भी ठंडा भोजन या अधिक समय पूर्व बनाया भोजन न करे | ताज़ी फलों और सब्जियों का ही प्रयोग करें |


 चिंता मुक्त जीवन जीये  

हमेशा ध्यान रखे चिंता करना किसी भी समस्या का हल नहीं है |
प्रत्येक समस्या को हल करने के लिए चिंता के बजाय उस काम पर फोकस करे |उस समस्या को हल करने के रास्ते खोजे | और उस पर पूरे मनोबल के साथ काम करे | 
केवल चिंता करने से काम तो हल होगा नहीं बल्कि हमारी मानसिक ऊर्जा का नुक्सान होने लग जाएगा |जिसके कारण हमारे अन्दर मानसिक शक्ति कमजोर होने लग जाती है
और हम अवसाद की स्थिति में भी जा सकते है  इसलिए चिंता मुक्त जीवन जीये  |


 यदि आप अपने स्वस्थ के प्रति जागरूक है  तो अपना नियमित हेल्थ CHECK UP करवाये | अपने लिए HEALTH  INSURANCE ले  |
नियमित व्यायाम एवम योग करे  अपने स्वास्थ्य का स्वयं ध्यान रहे |

सदैव हंसते मुस्कराते रहे | औए हमेशा खुश रहे |



1 Comments

  1. Your post for health is very useful for each person thank u dear

    ReplyDelete

Post a Comment

Post a Comment

Previous Post Next Post